नेताजी आजाद भारत में होते तो देश का नक्शा कुछ और होता – सुरेंद्र मणि

0
266
  • नेताजी आजाद भारत में होते तो देश का नक्शा कुछ और होता – सुरेंद्र मणि

सरस्वती शिशु मंदिर में मनाई गई नेताजी जयंती 

समय INDIA 24 @ सीधी। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती सरस्वती शिशु मंदिर करौंदिया में भारत स्काउट एवं गाइड संघ के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मणि दुबे के मुख्य आतिथ्य में एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह जिला कार्यवाह नरेंद्र केसरवानी की अध्यक्षता एवं प्राचार्य रमेश चंद्र त्रिपाठी के विशेष उपस्थिति में मनाई गई।

बतौर मुख्य अतिथि भारत स्काउट एवं गाइड संघ के जिला अध्यक्ष वरिष्ठ समाजसेवी सुरेंद्र मणि दुबे ने कहा कि आजादी के महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस 1947 के बाद तक होते तो देश का नक्शा कुछ और ही होता। आजाद हिंद फौज और फॉरवर्ड ब्लॉक के रूप में देश का परचम समूचे दुनिया में फहराया। जय हिंद और दिल्ली चलो के उद्धोष ने आजादी के दीवानों को मंत्र दिया । नेताजी के कृतित्व और व्यक्तित्व से हम सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए।

उद्बोधन में आर एस एस के सह जिला कार्यवाह पूर्व व्यवस्थापक नरेंद्र केसरवानी ने कहा कि सुभाष बाबू आजादी के सच्चे नायक थे। वे कुशाग्र बुद्धि और दूरदर्शिता के साथ-साथ कुशल योद्धा और रणनीतिकार थे। उनके योगदान को देश सदैव याद रखेगा। विद्यालय के प्राचार्य रमेश चंद्र त्रिपाठी ने अतिथियों का हल्दी चंदन से स्वागत करते हुए कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल के कारण कार्यक्रम संक्षिप्त किंतु भव्य है। कार्यक्रम में देश भक्ति गीत नितिन द्विवेदी, सरस्वती पांडे, धनु राधा सिंह, शिवानी सिंह ने गाया वही हाई स्कूल के टॉपर रहे विद्यालय के पूर्व छात्र आयुष सिंह ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जीवनी पर व्यापक प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन रामायण प्रसाद द्विवेदी आचार्य ने किया। इस दौरान सरस्वती वंदना एवं शांति मंत्र भी किया गया। इस अवसर पर विद्यालय के आचार्य एवं भैया बहन उपस्थित रहे। दीप प्रज्वलन के साथ नेताजी सुभाष को श्रद्धा सुमन अर्पित करते वह कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।