सीधी – निकाय चुनाव में भाजपा और कांग्रेस में बगावत, दावेदारों ने भरा निर्दलीय नामांकन

0
413

निकाय चुनाव में भाजपा और कांग्रेस में बगावत, दावेदारों ने भरा निर्दलीय नामांकन

नगरपालिका के सभी वार्डो को जीतने भाजपा और कांग्रेस का दावा, लेकिन काम बिगाड़ेगी आप

अमित कु. “स्वतंत्र” (8839245425) समय INDIA 24 @ सीधी। जिले में नगरीय निकाय चुनाव को लेकर सरगर्मीयां तेज है और भाजपा – कांग्रेस पार्टी के अतिरिक्त आम आदमी पार्टी एवं शिवसेना ने भी पार्षद के लिए उम्मीदवार उतार दिए है। नगर पालिका परिषद सीधी के 24 वार्डो पर भाजपा और कांग्रेस के टिकट बटबारे बाद पार्टी के कुछ कार्यकर्ता अब नाराज हो गए हैं। इस नाराजगी का कारण रहा है कि पार्टी ने उन पर भरोसा नहीं जताया है जबकि पार्टी के लिए कई वर्षो से काम कर रहे है। नगर पार्षद के लिए टिकट न मिलने से नाराज़ भाजपा और कांग्रेस पार्टी के कई पदाधिकारियो ने निर्दलीय व अन्य पार्टी में शामिल होकर नामांकन दाखिल कर दिया है।

नगरपालिका परिषद के वार्ड क्रमांक दो से कांग्रेस ने विनोद मिश्रा को पार्षद का टिकट दिया है लेकिन सूत्रों कि माने तो युवा कांग्रेस विधानसभा सीधी अध्यक्ष ने अपने ही पार्टी के उम्मीदवार के विरोध में निर्दलीय उम्मीदवार खड़ा करा दिया है। चुनाव लडने कि ऐसी बानगी जिसने पार्टी कार्यकर्ताओ को बागी बना दिया है। नगर पालिका परिषद के वार्ड क्रमांक 17 से कांग्रेस नेता विनय वर्मा कि सुपुत्री रितु वर्मा, वार्ड 22 से कांग्रेस कार्यकर्ता प्रशांत सिंह, वार्ड 17 से भाजपा नेत्री रजनी अवधिया, वार्ड 20 से भाजपा पिछड़ा वर्ग पूर्व जिलाध्यक्ष बाबूलाल कुशवाहा ने निर्दलीय नामांकन दाखिल किया है तो वही मनोज तिवारी ने वार्ड 02 से आम आदमी पार्टी के टिकट पर पार्षद का चुनाव लडा है।

निकाय चुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस अपने पार्टी कार्यकर्ताओ के साथ बैठके कर रही है और नाराज कार्यकर्ताओं को पधाधिकारी मानने कि कोशिश भी कर रहे हैं। अब देखना यह होगा कि पार्टी में डैमेज कंट्रोल कि बात करने वाली भाजपा और कांग्रेस पार्टी कितनी सफ़ल रहती हैं या फिर ऐसे बागी नेताओं के विरुद्ध कार्यवाही करती है।

इनका कहना है – 

भाजपा ने जनता के लिए काम किया है। भाजपा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार ने गरीब के पेट तक दाना पहुचाया है, आवास बनवाया है और योजनाओं के माध्यम से जनता के लिए काम किया है। जनता हमारे साथ है, हम चौबीसों वार्ड जीतेंगे। भाजपा के लिए नगरपालिका में कोई चुनौती का वार्ड नही है। – इंद्रशरण सिंह – जिलाध्यक्ष – भाजपा सीधी

नगरपालिका के किसी भी वार्ड में कांग्रेस के लिए कोई चुनौती नही है, चौबीसों वार्डो में कांग्रेस जीतने जा रही है। इस बार तय है कि कांग्रेस का अध्यक्ष बनेगा। टिकट से वंचित कई कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने नामांकन दाखिल किया है, हम समीक्षा करेगे और  डैमेज  कंट्रोल करने का प्रयास करेगे। – ज्ञान सिंह – जिलाध्यक्ष, कांग्रेस सीधी

नगर कि जनता को लम्बे समय से तीसरे विकल्प कि तलाश थी जिसे आम आदमी पार्टी ने नगरपालिका का चुनाव लड़ कर पूरी कर दी है। जनता आम आदमी पार्टी के विकास माडल से प्रभावित है और हम मजबूती के साथ नगर पालिका के वार्डो पर जीतने जा रहे हैं।-  रामचरण सोनी – प्रदेश प्रवक्ता, आम आदमी पार्टी

बीजेपी से टिकट पार्षद के लिए मांगा थी। मेरी हमेशा से समाजसेवा के लिए कोशिश रही है इसलिए टिकट नही मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ रही हूं।क्षेत्र कि समस्याए दूर करना मेरी प्रमुख प्राथमिकता होगी। – रजनी हरीश अवधिया – निर्दलीय, वार्ड क्रमांक 17

सन् 1995 से भारतीय जनता पार्टी का सक्रिय सदस्य था। वार्ड से लेकर जिले के विभिन्न पदों पर रहते हुए पार्टी के लिए कार्य किया । हमारा वार्ड पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित था इसके बाद भी टिकट मांगने पर नहीं मिला। इसलिए निर्दलीय चुनाव लड़ रहा हूं। – बाबूलाल कुशवाहा – निर्दलीय, वार्ड क्रमांक 20

पार्टी ने मनमानी तरीके से टिकट बांटा, मुझे मौका नहीं मिला। वार्ड में हमेशा मेरी और परिवार कि सक्रियता रही है लेकिन पार्टी कि मनमानी ने सही व्यक्ति को टिकट नहीं दिया। जनता मुझे मौका देती है तो, सामाजिकभाव से सेवा करेगे। – प्रशांत सिंह – निर्दलीय, वार्ड 22

भाजपा द्वारा पार्षद प्रत्याशी बतौर घोषित हुआ हूं। भाजपा सरकार के विकास कार्यों को वार्ड के जनता तक पहुंचाने का काम करूंगा।-  रवीन्द्र गौतम – भाजपा प्रत्याशी, वार्ड 10

वार्ड के लिए मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराना है। पूर्व कार्यकाल में अधूरे रह गए कार्यों को  पूरा करना है।मेनिका सिंह  – कांग्रेस प्रत्याशी, वार्ड 09

शिवराज सरकार के व्यवस्थाओं कि पोल खोलती भाजपा प्रत्याशी का वीडियो वायरल 

नगरपालिका परिषद के वार्ड नंबर दो से भाजपा प्रत्याशी सुरेन्द्र गुप्ता का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो ने भाजपा प्रदेश सरकार कि सीएम हेल्पलाइन एवं जन सुनवाई व्यवस्था कि पोल खोल दी है। श्री गुप्ता किसी मामले को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे थे और मीडिया को बयान देते हुए वीडियो में कहते नजर आ रहे हैं कि पांच वर्षो से जनसुनवाई में कलेक्टर को आवेदन दिया जा रहा है और दस बार सीएम हेल्पलाइन की जा चुकी है लेकिन प्रशासन आवेदन को टेबिल के नीचे रख देता है या बेड के नीचे, पता नहीं चल रहा। हालांकि यह वीडियो पुराना बताया जा रहा है लेकिन भाजपा नेता और वार्ड एक से पार्षद रहते हुए सुरेन्द्र गुप्ता का यह बयान अब एक बार फिर वायरल होकर विपक्षी राजनैतिक पार्टियों को चुटकी लेने का मौका दे देना है। इसमें चुटकी लेते हुए आम आदमी पार्टी प्रदेश प्रवक्ता रामचरण सोनी ने कहा कि जब भाजपा के नेता ही अपने सरकार के व्यवस्था से असंतुष्ट है भला ऐसे में जनता का क्या होता होगा। यह सच्चाई है कि भाजपा के शासन में सिर्फ व्यवस्था सुधार कि चुनावी बाते होती है लेकिन सुधार नही होता, यही कारण है कि भाजपा नेता भी परेशान है।

इनका कहना है –

रेलवे कि सुनवाई अभी भी नही हो रही है। अब तो होगी हम बताते है, ऐसी कोई बात नहीं है। वार्ड क्रमांक दो विकास करेगे योजनाओं को पहुंचाएंगे। सुरेन्द्र गुप्ता – भाजपा प्रत्याशी, वार्ड क्रमांक 02