सामाजिक दूरी का नहीं है ख्याल, किसान खड़ा! विपणन संघ का हाल बेहाल

0
1079

अमित कुमार गौतम “स्वतंत्र” सीधी। जिले में दिनों दिन कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है इस दौरान किसानों को खाद लेने विपणन संघ सीधी आना पढ़ रहा है। जहा शासन प्रशासन द्वारा जारी निर्देशों को ताक में रख बिना सामाजिक दूरी का ख्याल रखे दिन गुरुवार को लगभग तीन सैकड़ा से ज्यादा किसान विपणन संघ पटेल पुल खाद लेने पहुंचे। विपणन संघ का आलम यह रहा कि खाद लेने आए सैकड़ों किसानों से सामाजिक दूरी का पालन नहीं कराया जा सका। किसानों का कहना था कि सुबह से यहां लाइन लगाकर खड़े हुए है लेकिन भीड़ की धक्का मुक्की और गर्मी से हाल बेहाल है। खाद लेने आए महिलाएं और बूढ़े किसानों को भारी समस्या का सामना करना पड़ा ।

व्यवस्था सम्हालने पहुंचे नायाब तहसीलदार, शुरु कराई टोकन व्यवस्था

विपणन संघ में खाद लेने पहुंचे सैकड़ों की संख्या में किसानो कारण व्यवस्था संभाल पाना मुश्किल होने की स्थिति पर अनान फानन में पहुंचे नायाब तहसीलदार सौरभ मिश्रा द्वारा विपणन संघ के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए व्यवस्थाओं पर जोर देने को निर्देशित किया गया। किसानो की बढ़ती संख्या और प्रभावित हो रहे यातायात व्यवस्था को देखते हुए नायाब तहसीलदार द्वारा किसानों को टोकन व्यवस्था दो वर्गो में कराया जिसमें टोकन क्रमांक 1 से क्रमांक 190 तक किसानो को गुरुवार दिनांक 13 अगस्त और क्रमांक 191 से आगे के सभी टोकन प्राप्त कर्ता को सोमवार दिनांक 17 अगस्त को खाद उपलब्ध कराई जाएगी।

प्रशासन का सहयोग करने समाज सेवियों ने बढ़ाया कदम

विपणन संघ में एकत्रित हुए सैकड़ों किसानो की अफरा तफरी के बीच पहुंचे नायाब तहसीलदार सौरभ मिश्रा और समाजसेवी रविशंकर तिवारी ( पुण्य डिवाइन फाउंडेशन ) सहित अन्य ने पुलिस के साथ कदम से कदम मिलाते हुए कोरोना महामारी के दौरान किसानो कि मदद की तो वहीं व्यवस्था सुदृढ़ करने मजबूती के साथ काम किया। समाज सेवियों के द्वारा बढ़ाए गए कदम से किसानो को राहत मिली बल्कि सामाजिक दूरी का पालन होना संभव हो पाया।

समितियों में भेजी गई खाद, आसानी से मिल सकेगी खाद

विपणन संघ द्वारा जिले के कुछ समितियों में खाद भेज दी गई है जिसके बाद अब किसानो को खाद उपलब्ध होने वाली समस्याओं से सामना कम करना पड़ेगा। कमर्जी 5 टन, पड़ैनिया 10 टन, कोल्हू डीह 10 टन , कंधवार 7 टन, लकोड़ा 9 टन, बड़खडा 9 टन, कुड़ियां 7 टन खाद समितियों में भेजी गई है।

इनका कहना है :

जिन समितियों द्वारा खाद की माग की गई है उपलब्ध कराया जा रहा है, अभी 175 टन खाद मेरे यहां उपलब्ध हुई है। किसानो की बढ़ती संख्या के कारण उच्च अधिकारियों को सूचित किया गया है व्यवस्थाओं को लेकर पुलिस लगी हुई है , 1000 टन खाद अगले सप्ताह और उपलब्ध हो जाएगी।

आनंद पांडेय, विपणन संघ सीधी

सुबह से किसान परेशान थे और शासन प्रशासन के निर्देशों को दरकिनार कर खाद वितरण किया जा रहा है, व्यवस्थाएं सुनिश्चित होने के बाद खाद वितरण हो जिससे कोरोना महामारी के दौरान किसानो को समस्याओं का सामना ना करना पड़े। महिलाएं आई हुई है खाद लेने लेकिन महिला पुलिस कर्मी कोई नहीं है आम जन को भी अपने प्रति सजग होना चाहिए।

राम चरण सोनी ( प्रदेश प्रवक्ता, आम आदमी पार्टी)