सब्जी – फल मण्डी एशोसिएशन के आहवान में सब्जी व फल विक्रेताओं का अनिश्चित कालीन हड़ताल

0
485

थोक एवं फुटकर मंडी बन्द होने से बाजार में फल – सब्जियों को लेकर परेशान दिखे शहर वासी

सब्जी – फल मण्डी एशोसिएशन के आहवान में सब्जी व फल विक्रेताओं का अनिश्चित कालीन हड़ताल

समय INDIA 24 (8839245425) सीधी। जिला मुख्यालय में दिन मंगलवार से सब्जी – फल थोक एवं फुटकर व्यवसायियों ने अनिश्चित कालीन हड़ताल शुरू कर दिया है। जिसके बाद से शहर के लोगो को फल व सब्जी क्रय करने के लिए परेशानी  हो रही है। फल – सब्जी थोक विक्रेताओं के द्वारा विगत वर्षो से अपनी मांगो को लेकर प्रशासन को पत्राचार एवं अन्य माध्यमों से अवगत कराया जा रहा था लेकिन प्रशासन द्वारा ध्यान नही दिए जाने पर सब्जी – फल मण्डी एशोसिएशन के आह्वान पर व्यापारी लामबंद होकर सुन्दर सुव्यवस्थित मंडी व अन्य प्रमुख मांगो के साथ अपनी दुकानो में ताला लगा दिया हैं।

सब्जी – फल मण्डी एशोसिएशन ने कहा कि जिला प्रशासन की अनदेखी और अव्यवस्था के कारण व्यापारियों को जिले में कोरोना संक्रमण की पहली लहर से अब तक कई बार विस्थापित किया जा चुका है। उसके बाबजूद व्यापारियों ने प्रशासन के आश्वासन के सहारे धूप, गर्मी, वर्षा ऋतु की मार झेलते हुए व्यापार करते रहें। जिला प्रशासन के इस रवैये को देखते हुए संगठन के द्वारा सर्व सम्मति से निर्णय लेते हुए मंगलवार से सभी व्यापारी अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले गयें। एक साथ सभी दुकाने बंद होने से बाजार में फल – सब्जियों कि कमी हो गई है।
सब्जी – फल मण्डी एशोसिएशन अध्यक्ष अमित गुप्ता ने बताया कि संगठन द्वारा हेल्प लाइन नंबर जारी किया गया है, जिसके तहत किसी भी मरीज को फल व सब्जी की कमी नही होने देंगे और उपलब्धता सुनिश्चित करेगे।

मांग पूरी ना होने पर पूरा जिला होगा बंद – विनोद मिश्रा

सब्जी – फल मण्डी एशोसिएशन द्वारा चल रहे अनिश्चित कालीन हड़ताल का समर्थन करते हुए भारतीय व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष विनोद मिश्रा ने जारी विज्ञप्ति कर कहा है कि यदि त्वरित रूप से संगठन की जायज मांगो को प्रशासन नही मानता है तो इनके समर्थन में पूरे जिले के व्यापारी उतर आयेगें और अपने दुकानों मे ताला लगा कर सभी अनिश्चित कालीन हड़ताल में बैठ जायेगें। जिसकी सम्पूर्ण जबाबदेही जिला प्रशासन की होगी। श्री मिश्रा ने बताया कि सब्जी एवं फल विक्रेताओं के द्वारा नगर पालिका को प्रतिदिन बड़े शहरों की तर्ज पर राजस्व दिया जाता है उसके बाबजूद व्यवस्थायें उचित नहीं मिल रही हैं। अगर व्यापारी अपनी सुरक्षा हेतु पुलिस चौकी या सुरक्षाकर्मी की मांग कर रहे हैं, मंडी के मुख्य द्वार पर सुरक्षा की दृष्टि से बैरिकेट की मांग कर रहे हैं, अपने संस्थानो में एक छत, पानी, शुलभ शौचालय की मांग कर रहे हैं तो यह जायज हैं। जिला प्रशासन को आगे बढ़ कर त्वरित रूप से मांगो की पूर्ति करनी चहिए अन्यथा जिले में व्यापार बंद कर व्यापारी वर्ग एक साथ हड़ताल करेगा।