शहीद रामसिया की स्मृति में आयोजित हुआ विशाल कवि सम्मेलन

0
414

शहीद रामसिया की स्मृति में आयोजित हुआ विशाल कवि सम्मेलन

सरस ने वीर रस से तो अतुल नें हॅसी ठिठोली से जीता हजारों श्रोताओं का दिल, देर रात चलती रही काव्य निशा

करोड़ो दिलों में हमेशा जीवित रहेगें शहीद – श्रीमती रीती पाठक

सामाजिक समरसता से ही समाज का विकास सम्भव – इंजी. आशीष

समय INDIA 24 @सीधी। सीधी के लाल शहीद रामसिया मिश्रा मातृ भूमि की सेवा करते हुए 1 जून 2005 को सुकमा कोटा में शहीद हुए थें। जिनकी याद में शुक्रवार 25 फरवरी को शहीद के परिवार का सम्मान कार्यक्रम के साथ ही विशाल कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। उक्त कार्यक्रम में श्रीमती रीती पाठक सांसद, इंन्द्रशरण सिंह जिलाध्यक्ष भाजपा, कुॅवर सिंह टेकाम विधायक के साथ ही जिले वरिष्ठ अधिकारी कर्मचारी व गणमान्य जनो की मौजूदगी से कार्यक्रम में गरिमा प्रदान हुई। इंजी. आशीष मिश्रा ने बताया कि आजादी के 75 वें वर्ष को अमृत महोत्सव के रूप में सम्पूर्ण राष्ट्र मना रहा है और अलग अलग स्तर पर कई कार्यक्रमो का आयोजन किया जा रहा है। इसी तारतम्य में श्री आशुतोष जन कल्याण समिति सिहावल एवं भारत विकास परिषद के समग्र प्रयाश से तहसील सिहावल अंतर्गत ग्राम बघोर में सम्मान समारोह में वीर शहीद रामसिया मिश्रा के पिता भगवानदीन मिश्रा एवं पत्नी सावित्री मिश्रा तथा पुत्री प्रियंका मिश्रा का साल श्रीफ ल से स्वागत किया गया व कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।

हम घरों मे चैन से सो सकें इसलिये जवान दिन रात देते हैं पहरासांसद

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि सांसद श्रीमती रीति पाठक ने आमजनो को सम्बोधित करते हुए कहा कि हम सब घरों मे चैन से सो सकें इसलिये हमारे देश के जवान दिन रात जगते हैं। हम यहॉ हल्की सी ठण्ड में कॉपने लगते हैं और हमारे जवान माइनस टम्प्रेचर में भी मॉ भारती की रक्षा हेतु पूरी तन्मयता के साथ 24 घंटे लगातार सेवा देते हैं। हम सब का भी दायित्व बनता है कि भारतीय सैनिको का ह्दय से सम्मान करें और इनके घर परिवार को अपना घर मानते हुए यथा उचित मदद करने का प्रयाश करें। श्रीमती पाठक ने शहीद के परिवार को सम्बोधित करते हुए कहा कि मैं सदैव वीर शहीद श्री मिश्रा के परिवार को अपना परिवार मानते हुए सेवा में तत्पर रहूॅगी।

आयोजक मंडल साधुवाद के पात्र – कुॅवर सिंह

उक्त कार्यक्रम के अध्यक्ष धौहनी विधायक कुॅवर सिंह टेकाम नें इंजी. आशीष मिश्रा एवं श्री आशुतोष जन कल्याण समिति सिहावल व भारत विकास परिषद के सभी सदस्यों को ह्दय से साधुवाद देते हुए कहा कि यह मेरे लिये गर्व का विषय है कि अमृत महोत्सव कार्यक्रम में सहभागी बनने का मौका मिला। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि इन्द्रशरण सिंह चौहान नें अपने सारगर्भित उद्बोधन में कहा कि भारतीय जनता पार्टी सदैव आखरी पंक्ति के आखरी व्यक्ति की हर सम्भव मदद करने हेतु प्रयाशरत रहती है। उक्त पावन पुनीत कार्यक्रम मे शामिल होने के लिये मेरे द्वारा कई अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रम स्थगित किये गयें है।

शहीद के परिवार को भूल गया प्रशासन – इंजी. आशीष

वरिष्ठ समाजसेवक इंजी. आशीष मिश्रा ने आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के दौरान आमजनो को सम्बोधित करते हुए केन्द्र एवं राज्य सरकार के द्वारा किये जा रहे कार्यो की सरहाना करते हुए कहा कि सीधी के लाल ग्राम बघोर में जन्में रामसिया मिश्रा बाल्य काल से ही खेल कूद के साथ ही देश भक्ति की प्रबलता के चलते भारतीय सेना का हिस्सा बनने की राह चुने और भारतीय सेना में देश सेवा के दौरान 1 जून 2005 को सुबह करीब 11 बजे सुकमा कोटा में नक्सलियों के द्वारा बिछाये गये बारूदी सुरंग के ब्लास्ट के चलते शहीद हो गयें। उक्त कार्यक्रम वीर शहीद को याद करते हुए उनके सम्मान में आयोजित किया गया है। ऐसे कार्यक्रमो से सामाजिक समरसता बढ़ती है और समाजा का विकास सम्भव होता है साथ ही देश भक्ति जन सेवा की भावना प्रबल होती है। ऐसे कार्यक्रमो में समाज के हर जाति धर्म वर्ग के लोगों को आगे आना चहिए।

देर रात तक चलती रही काव्य निशा

वीर शहीदों के नाम समर्पित काव्य निशा में वीर रस की प्रधानता रही, जिसमें विंध्य के जाने माने विद्वान कवियों के द्वारा देर रात तक काव्य पाठ कर श्रोत्राओं का दिल जीत लिया गया। काव्य पाठ में श्री सरस ने वीर रस का प्रवाह किया तो तीन पांच टीम से हास्य कलाकार उमेश लखन ने वर्तमान राजनैतिक परिदृश्य पेश किया, वहीं सीधी के लोकप्रिय गीतकार अतुल उपाध्याय ने हॅसी ठिठोली के द्वारा सभी के चेहरो पर खुशी लाने में सफल रहें। कार्यक्रम में अन्य वरिष्ठ कवियों ने अपनी कविताओं से लोगो को भाव विभोर कर दिया। कवि सम्मेलन में देर रात तक सारे श्रोता काव्य रस से सराबोर होते रहें।