शहरी क्षेत्र में माइकिंग द्वारा एवं ग्रामीण क्षेत्रों में डोंडी पिटवाकर प्रचार प्रसार किया जाए- मुख्यमंत्री

0
659

कोरोना वायरस से बचाने 25 एवं 26 अगस्त को चलाया जाएगा टीकाकरण महा अभिान कार्यक्रम

शहरी क्षेत्र में माइकिंग द्वारा एवं ग्रामीण क्षेत्रों में डोंडी पिटवाकर प्रचार प्रसार किया जाए- मुख्यमंत्री

उमरिया – कोरोना वायरस से बचाव के मद्देनजर 25 एवं 26 अगस्त को प्रदेश के सभी जिलों में टीकाकरण का महा-अभियान चलाया जा रहा है, इसके परिणाम मूलक उपलब्धि एवं शत प्रतिशत लोगों को कोविड-19 का दोनों टीका लगवाने के उद्देश्य से आज मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वर्चुअल माध्यम से कमिश्नर, कलेक्टर, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कोरोना महा-अभियान को सफल बनाने के लिए जन अभियान परिषद के सदस्य, कोरोना वॉलिंटियर्स, समाजसेवियों, जनप्रतिनिधियों, धर्मगुरुओं सभी का सहयोग लिया जाए और 25-25 की टोली बनाकर पीले चावल देकर लोगों को टीकाकरण के लिए आमंत्रित किया जाए। उत्सव जैसा माहौल बनाया जाए दिव्यांगजन एवं वृद्धजनों को जो टीकाकरण स्थल पर नहीं आ सकते हैं, उन्हें वाहन द्वारा टीकाकरण स्थल तक लाया जाए और टीकाकरण के पश्चात उन्हें घर भी छोड़ा जाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि वार्ड वाइज, ग्राम स्तर द्वितीय खुराक के लिए ड्यू लिस्ट क्राइसिस मैनेजमेंट कमिटी के सदस्यों को उपलब्ध कराया जाए। इससे वे जन जागरूकता ला सकें और लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जा सके।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि प्रथम दिन प्रथम टीकाकरण से वंचित एवं द्वितीय डोज के पात्र हितग्राहियों का टीका लगाया जाए तथा द्वितीय दिन कोविड-19 के द्वितीय टीका से वंचित लोगों का टीकाकरण किया जाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुए कहा कि सितंबर 2021 तक प्रदेश के सभी जिलों में सभी व्यक्तियों को कोविड-19 का प्रथम टीका लगा दिया जाए व द्वितीय टीका के लिए पात्र लोगों को भी शत प्रतिशत टीका लगा दिया जाए इसके लिए एक सशक्त कार्य योजना की आवश्यकता है। शहरी क्षेत्र में माइकिंग द्वारा एवं ग्रामीण क्षेत्रों में डौंडी पिटवाकर प्रचार प्रसार किया जाए।

उक्त वर्चुअल उद्बोधन को प्रदेश की जनजातीय कार्य मंत्री सुश्री मीना सिंह, विधायक बांधवगढ़ शिवनारायण सिंह, दिलीप पाण्डेय, कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव, अपर कलेक्टर अशोक ओहरी , मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी आर के मेहरा, मिथिलेश मिश्रा, मान सिंह सहित क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य उपस्थित रहे।