लखीमपुर खीरी की घटना दमनात्मक, बरबर और वीभत्स है- उमेश तिवारी

0
716

लखीमपुर खीरी की घटना दमनात्मक, बरबर और वीभत्स है- उमेश तिवारी

समय INDIA 24, सीधी। टोंको- रोंको- ठोंको क्रांतिकारी मोर्चा के संयोजक उमेश तिवारी ने बताया है कि उत्तर प्रदेश के लखीनपुर खीरी के तिकोनिया में उपमुख्यमंत्री के कार्यक्रम का विरोध कर रहे किसानो पर पुलिस की शह पर आरएसएस बीजेपी के गुण्डो के द्वारा प्रदर्शनकारी किसानो पर गाडियां चढ़ाने से चार किसानो की मौके पर मृत्यु हो गई। जब किसान हेलीपैड पर अपने विरोध कार्यक्रम को समाप्त करने की घोषणा कर चुके थे तभी आशीष मिश्रा टेनी (केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र) तीन वाहनों के साथ आए और तीनों वाहनों से किसानों को कुचल दिया तथा संयुक्त किसान मोर्चा के नेता तजिंदर सिंह विर्क के उपर सीधे वाहन चला कर हमला किया गोलियां भी चलाईं गईं, आशीष मिश्रा टेनी और उनकी टीम द्वारा की गई इस गोलीबारी से एक किसान की मौत हो गई।

उमेश तिवारी ने कहा है कि लखीमपुर की घटना सरकारी गुण्डागर्दी का एक जीता-जागता ताजा उदाहरण है। तिकोनिया, लखीमपुर में उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्र के कार्यक्रम के विरोध में किसानों ने हेलीपैड का घेराव किया था, किसानों को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के लड़के और उसके रिश्तेदार व कुछ गुण्डों ने अपनी गाड़ी से रौंद दिया है। जिसमें मौके पर चार किसान शहीद हो गए लवप्रीत सिंह (20), दलजीत सिंह (35), नछत्तर सिंह (60) और गुरविंदर सिंह (19) करीब 12 से 15 लोग घायल हैं,जो अस्पताल में भर्ती हैं।संयुक्त किसान मोर्चा सभी शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करता है।

संयुक्त किसान मोर्चा की मांग है कि:-

1. किसानों पर हुए इस हमले में शामिल आशीष मिश्रा टेनी (मंत्री के बेटा) और अन्य के खिलाफ धारा 302 (हत्या) का मुकदमा दर्ज कर तत्काल गिरफ्तार किया जाए।

2. केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी को केंद्र सरकार से तुरंत बर्खास्त किया जाए। 

3. पूरे खूनी प्रकरण की सुप्रीम कोर्ट के एक वर्तमान जज द्वारा न्यायिक जांच की जाय।

4. घायलों का उचित इलाज व मुआवजा दिया जाय तथा शहीद परिवारों को मुआवजा दिया जाय।

5. विगड़ती कानून व्यवस्था के सवाल पर उत्तर प्रदेश सरकार को बर्खास्त किया जाय।

उमेश तिवारी ने कहा है कि संयुक्त किसान मोर्चा किसान आंदोलन में भाग लेने वाले सभी नागरिकों से शांतिपूर्ण और अहिंसक तरीके से अपना विरोध जारी रखने की अपील करता है, जैसा कि उन्होंने पिछले दस महीनों में किया है। संयुक्त किसान मोर्चा भाजपा- आरएसएस की ताकतों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे विभिन्न घटिया और षड्यंत्रकारी तरीकों को पहचानता है वह सत्य और अहिंसा के रास्ते पर चलकर इन षड्यंत्रों का मुकाबला करेगा।