भाजपा युवा नेता पर डॉक्टरों को धमकाने व देख लेने का आरोप

0
357

भाजपा युवा नेता पर डॉक्टरों को धमकाने व देख लेने का आरोप

सिविल सर्जन ने कार्यवाही हेतु पुलिस अधीक्षक को लिखा पत्र

समय INDIA 24 (8839245425) सीधी। भाजपा युवा नेता कि गुंडागर्दी व धमकाने का मामला सामने आया है। जिला चिकित्सालय में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टरों से अभद्रता व धमकी देने का भारतीय जनता युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष निशांत मिश्रा पर आरोप लगा है। जिला चिकित्सालय सिविल सर्जन डॉक्टर एस बी खरे ने पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखा है कि निशांत मिश्रा द्वारा किसी अपात्र विकलांग व्यक्ति को लाया गया था और विकलांगता प्रमाण पत्र जारी करने धमकी के साथ अनावश्यक दबाव डाला जा रहा था। निशांत मिश्रा द्वारा डॉक्टर हिमेश पाठक और डॉक्टर आलोक दुबे को बाहर निकलकर देख लेने कि धमकी दी गई है। ऐसी परिस्थिति में जिला चिकित्सालय पर भय का माहौल बनता है। सिविल सर्जन डॉ खरे ने पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाते हुए उचित कार्यवाही करने मांग किया है।

सूत्रों कि माने तो यह घटना भारतीय जनता युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष निशांत मिश्रा से जुड़े होने के कारण राजनीतिक दबाव और मामले को दबाने कि कोशिश कि जा रही है। इस मामले में डॉक्टर एसबी खरे से जानकारी चाही गई लेकिन कुछ कहने से बचते हुए नजर आए। हालांकि दोनो पक्ष पुलिस के पास अपनी शिकायत दर्ज करा दी है। देखना यह होगा कि डॉक्टर और भाजपा युवा नेता के बीच का विवाद कोई नया राजनीतिक रंग लाता है या फिर पुलिस घटना कि जांच कर कार्यवाही करती है।

इनका कहना है – 

शिकायत प्राप्त हुई है, संबंधित थाने को मामले कि जांच कर कार्यवाही करने निर्देश दिये गए है।

– अंजुलता पटले, एएसपी – सीधी

भाजपा के नेता सत्ता के नशे में है। इस प्रकार डॉक्टरों को धमकाना या अनावश्यक दबाव डालना निदनीय है। ऐसा नही होना चाहिए।

एड. रंजना मिश्रा, युवा कांग्रेस – पूर्व अध्यक्ष, लोकसभा सीधी

यह सत्ता का दुरुपयोग है। डाॅक्टर सदैव सेवा कार्य में लगे रहते हैं। यदि कोई समस्या थी उसके लिए उचित फोरम बने हुए हैं। लेकिन धमकाना और दबाव डालना उचित नहीं है।

साजन अग्रहरी, अध्यक्ष -आप यूथ विंग, सीधी