पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना से बाल हितग्राहियों को किया गया लाभान्वित, प्रधानमंत्री ने बाल हितग्राहियों से किया संवाद

0
71

पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना से बाल हितग्राहियों को किया गया लाभान्वित, प्रधानमंत्री ने बाल हितग्राहियों से किया संवाद

सीधी जिले के 6 बाल हितग्राहियों को किया गया लाभान्वित

समय INDIA 24@सीधी। कोविड काल में माता-पिता को खोने वाले बच्चों को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना से वीडियों कांफ्रेंसिंग के माध्यम से लांभावित किया गया। सीधी जिले में 6 बाल हितग्राहियों को योजना से लांभावित किया गया है। पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना के माध्यम से 18 वर्ष से कम आयु के ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता दोनों अथवा अंतिम जीवित माता या पिता या संरक्षक की मृत्यु मार्च 2020 से 31 दिसम्बर 2021 के मध्यम कोविड के कारण हुयी है, को लाभांवित किया गया है।

पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना के अंतर्गत लाभान्वित बाल हितग्राहियों को 23 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर 10 लाख रूपये की राशि प्रदान की जायेगी। योजना के अंतर्गत सभी लाभान्वित बाल हितग्राहियों का खाता पोस्ट ऑफिस में जिला मजिस्ट्रेट के साथ खोला गया है, जिसमें योजना की राशि अन्तरित की गयी है। 18 वर्ष से कम आयु के कक्षा 1 से 12 तक अध्ययन करने वाले बाल हितग्राहियों को छात्रवृत्ति के रूप में प्रतिवर्ष 20 हजार रूपये एवं स्पांशरशिप के रूप में 4 हजार रूपये प्रतिमाह प्रदान किया जायेगा। इसके अतिरिक्त 5 लाख रुपए तक स्वास्थ्य बीमा निःशुल्क प्रदान किया गया है। तकनीकी शिक्षा प्राप्त करने वाले बाल हितग्राहियों को स्वनाथ छात्रवृत्ति प्रदान की जायेगी। उच्च शिक्षा के लिये शिक्षा ऋण प्राप्त करने में सहायता की जायेगी व शिक्षा ऋण के ब्याज का भुगतान पीएम केयर्स फंड के द्वारा किया जायेगा। 18 वर्ष के अधिक बाल हितग्राहियों को 23 वर्ष की आयु तक मासिक वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी।

कार्यक्रम में उपस्थित बाल हितग्राहियों को पोस्ट ऑफिस की पासबुक, आयुष्मान कार्ड, पीएम केयर्स का प्रमाण पत्र, स्नेह पत्र व प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का बच्चों के नाम पत्र कलेक्टर मुजीबुर्रहमान खान द्वारा प्रदान किया गया। कलेक्टर ने कहा कि इस संकट के समय में पूरा प्रशासन बच्चों के साथ है। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर वह उनसे सीधे संपर्क भी कर सकते हैं। उन्होंने बच्चों से अपनी पढ़ाई को जारी रखने तथा जीवन में उच्च लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए प्रयास करने को कहा है।

ऑनलाइन कार्यक्रम का एनआईसी कक्ष सीधी में प्रसारण किया गया जिसमें जिला बाल संरक्षण अधिकारी आर सी त्रिपाठी, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष व सदस्य तथा किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य विभागीय अधिकारी एवं बाल हितग्राही व उनके संरक्षक उपस्थित रहे।