पंच-ज’’ अभियान के अंतर्गत शासकीय कन्या शिक्षा परिसर पनवार, अमरवाह में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीधी द्वारा किया गया वृक्षारोपण एवं विधिक जागरूकता शिविर 

0
90

पंच-ज’’ अभियान के अंतर्गत शासकीय कन्या शिक्षा परिसर पनवार, अमरवाह में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीधी द्वारा किया गया वृक्षारोपण एवं विधिक जागरूकता शिविर 

पौधों को अपना भाई समझ करें उनकी सुरक्षा – प्रधान जिला न्यायाधीश

सीधी।। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार तथा प्रधान जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीधी अमिताभ मिश्र के मार्गदर्शन में ‘‘पंच-ज’’ अभियान अंतर्गत शासकीय कन्या शिक्षा परिसर पनवार, अमरवाह जिला सीधी में वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उक्त कार्यक्रम में प्रधान जिला एवम सत्र न्याधीश अमिताभ मिश्र, विशेष न्यायधीश प्रशांत कुमार निगम, प्रधान कुटुंब न्यायधीश सुधीर सिंह चैहान, जिला अधिवक्ता संघ अध्यक्ष बृजेन्द्र सिंह बघेल, पूर्व अध्यक्ष राजेंद्र सिंह चैहान, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव कविता दीप खरे, अपर कलेक्टर बी.के. पाण्डेय, जिला न्यायधीश ललित कुमार झा, जिला न्यायधीश विवेक कुमार सिंह, जिला न्यायधीश राजेश कुमार श्रीवास्तव, न्यायधीश लवकेश सिंह, न्यायधीश धन कुमार कुडोपा, न्यायधीश रेणु खान, न्यायधीश शोभना मीना, न्यायधीश विषद गुप्ता, सहायक आयुक्त राजेश सिंह परिहार, सहायक संचालक डॉ डी के द्विवेदी, मंडल संयोजक राजेश पटेल के अतिरिक्त जनजातीय कार्य विभाग, प्रिंसिपल रेखा सिंह एवं जिला विधिक सहायता अधिकारी सिद्धार्थ शुक्ला सहित जिला प्राधिकरण एवं स्कूल का स्टाफ व छात्राएं उपस्थित रही। उक्त वृक्षारोपण कार्यक्रम में विभिन्न प्रजाती के पौधे उपस्थित अधिकारिगण तथा छात्राओं द्वारा रोपित किये गये।

इस अवसर पर संबोधित करते हुए प्रधान न्यायाधीश श्री मिश्र ने कहा कि वृक्षों का हमारे जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है। हमारे आसपास यदि वृक्ष लगे हैं तो हमें सुखद अनुभूति होती है। उन्होंने छात्राओं से कहा कि इन पौधों को अपना भाई समझे और इनकी देख रेख करें। प्रधान न्यायाधीश ने कहा कि पर्यावरण का संरक्षण एवं संवर्धन हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है। वृक्ष हैं तो कल है। प्रत्येक व्यक्ति का यह प्रयास होना चाहिए कि वर्ष में वह कम से कम एक वृक्ष लगाए और उसकी सुरक्षा करे। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संतुलन को बनाये रखने में वृक्षों का सबसे महत्वपूर्ण स्थान है इसलिए स्वयं भी पौधरोपण करें तथा अन्य लोगों को भी पौधरोपण के लिए प्रोत्साहित करें।