कलेक्टर ने राजस्व अभिलेख शुद्धिकरण कार्यों का किया निरीक्षण

0
476

कलेक्टर ने राजस्व अभिलेख शुद्धिकरण कार्यों का किया निरीक्षण

राजस्व अभिलेख शुद्धिकरण कार्य में लापरवाही पर होगी अनुशासनात्मक कार्यवाही – कलेक्टर श्री खान

समय INDIA 24, सीधी। राजस्व विभाग म.प्र. शासन द्वारा रिकार्ड(अभिलेख) शुद्धिकरण पखवाड़ा 1 नवम्बर से चलाया जा रहा है। कलेक्टर मुजीबुर्रहमान खान के निर्देशन में त्रुटि पूर्ण कम्प्यूटराइज्ड खसरे, नक्शे व बी-1 केे सुधार हेतु सीधी जिले में भी इस पखवाड़े के दौरान मृतक के वारिसान के नाम दर्ज करने, खसरे में भूमिस्वामी न होने की स्थिति में भूमिस्वामी का नाम दर्ज करने, खसरे में नाम व हिस्सा सुधार, खसरे में रकवा की त्रुटि सुधार , खसरे में मिन, जुज व शाब्दिक सर्वेक्षण क्रमांक का सुधार व खसरे नक्शे में एकरूपता लाने हेतु कार्यवाही की जा रही है।

कलेक्टर श्री खान द्वारा राजस्व अभिलेख शुद्धिकरण की नियमित निगरानी रखी जा रही है। इसी क्रम में कलेक्टर द्वारा पोड़ी एवं कुसमी में अभिलेख सुधार कार्य का निरीक्षण किया गया। कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए हैं कि अभिलेख शुद्धिकरण कार्य में किसी भी प्रकार की उदासीनता या लापरवाही स्वीकार नहीं की जाएगी। राजस्व अभिलेखों के शुद्धिकरण से किसानों की बहुत सी समस्याओं का समाधान हो जाएगा। कलेक्टर ने निर्देशित किया है कि सभी राजस्व अधिकारी/कर्मचारी इस पखवाड़े के दौरान पुराने रिकार्ड चेक कर रिकार्ड सुधार की कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। भ्रमण के दौरान उपखण्ड अधिकारी कुसमी आर के सिन्हा भी उपस्थित रहे।

राजस्व अभिलेख शुद्धिकरण में सीधी जिला प्रदेश में प्रथम स्थान पर

राजस्व अभिलेख शुद्धिकरण कार्य में सीधी जिला प्रदेश में प्रथम स्थान पर लगातार बना हुआ है। जिले में पखवाड़े के दौरान 242766 डाटा परिमार्जन, 139 रिक्त भूमि प्रकार, 4113 रिक्त भूमिस्वामी, 2769 रिक्त भूमिस्वामी प्रकार, 265 शून्य क्षेत्रफल, 12432 सक्रिय मूल एवं बटांक, 19616 शाब्दिक सर्वेक्षण सुधार,610 व्यपवर्तन डाटा एन्ट्री ,3067 फौती नामांतरण किये गये है।

कलेक्टर श्री खान द्वारा जिले वासियों से भी अपील की गई है कि फौती नामांतरण, राजस्व अभिलेखों के त्रुटि के संबंध में अपने राजस्व अधिकारियों से संपर्क करें, जिससे इस अभियान के तहत राजस्व अभिलेखों को शुद्ध किया जा सकेगा।