आदिवासी महिला ने लगाया अभद्रता करने और मारपीट का आरोप, बचाव में पहुंचे पड़ोसी पिता – पुत्र पर हमला

0
391

आदिवासी महिला ने लगाया अभद्रता करने और मारपीट का आरोप, बचाव में पहुंचे पड़ोसी पिता – पुत्र पर हमला

सिटी कोतवाली क्षेत्र में नही थम रही अपराधिक घटनाएं, लगातार हो रहा इज़ाफा

समय INDIA 24 (8839245425) सीधी। जिले में आपराधिक मामलो में लगातार इज़ाफा हो रहा है। सिटी कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत अमहा में महिला के साथ कुछ लोगो द्वारा अभद्रता और मारपीट करने का मामला प्रकाश में आया है। अमहा में एक किराए के मकान में रहने वाली आरती सिंह गोंड पति गणेश सिंह गोंड ने सीटी कोतवाली पर रिपोर्ट दर्ज कराया है कि दिनांक 30 जनवरी 2022 को अमहा निवासी राजेन्द्र साहू मुझे गलत नियत से पकड़ कर अभद्रता व और गाली – गलौच कर मारपीट किया है। इस दौरान बीच बचाव करने आए लखन साहू के सिर के ऊपर हसिया (पहसुल) एवं राजेन्द्र साहू के बेटे द्वारा लाठी से मनीष साहू सिर पर हमला कर दिया गया जिससे लखन साहू और उसके बेटे के सिर में गंभीर चोटें आईं हैं। फरियादी आरती सिंह गोंड ने रिपोर्ट दर्ज कराया है कि जब मैं दुकान जा रही थी उस वक्त राजेंद्र साहू द्वारा मुझे गलत नियत से देख रहा था जिस पर मेरे द्वारा आपत्ति जताई गई लेकिन आरोपी ने अभद्रता कर मार पीट शुरू कर दिया और जान से मारने कि धमकी दी है। मारपीट से मुझे चोटें आई है और आंतरिक रूप से शरीर को तकलीफ पहुंची है। जिस पर सिटी कोतवाली पुलिस ने मामले को संज्ञान में लेते हुए आरोपी राजेन्द्र साहू पिता हुब्बलाल साहू एवं राजकुमार साहू पिता राजेन्द्र साहू निवासी अमहा के विरुद्ध 154 सीआरपीसी कि धारा अंतर्गत 294, 323, 324, 354, 354 (ग), 506, 34, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अधिनियम अंतर्गत 3 (2) (VA) एवं 3 (1) (W) (i) तहत मामला पंजीबद्ध कर विवेचना शुरू कर दी है। फिलहाल घटना के दौरान बचाव में गए लखन साहू एवं मनीष साहू जिला चिकित्सालय में उपचारित है और फरियादिया आरती सिंह गोंड का उपचार चल रहा है।

इनका कहना है –

मैं सुबह तकरीबन 7:30 किराना दुकान जा रही थी। रास्ते में मुझे राजेंद्र साहू गलत नियत से देख रहा था जिसका विरोध करने पर मेरे साथ अभद्रता और मार पीट किया। आवाज लगाने पर बचाव के लिए पहुंचे लखन साहू और उसके बेटे के ऊपर भी हमला हुआ जिससे सिर में गंभीर चोटें आई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है लेकिन आरोपी को पुलिस अभी तक गिरफ्तार नही किया है।

– आरती सिंह गोंड ( पीड़िता ) 

आरती सिंह गोंड द्वारा आवाज लगाने पर बचाव के लिए पहुंचा। देखा कि राजेंद्र साहू गलत व्यवहार कर रहा था। जब मैं बीच बचाव के लिए गया उस वक्त राजेंद्र साहू द्वारा मेरे सिर पर धारदार हथियार और बचाव के लिए आए मेरे लड़के के सिर पर राजकुमार साहू द्वारा लाठी से हमला किया गया। जिससे गंभीर चोटें आने से जिला चिकित्सालय में भर्ती है।

– लखन साहू ( घायल – बचाव के दौरान )

मैं घटना के दौरान घर के अंदर सो रहा था। आवाज आने पर जब मैं मौके पर पहुंचा उस वक्त सभी लोग चले गए। मैं किसी के साथ मार पीट नही किया हू। यह पारिवारिक विवाद के कारण मुझे फंसाया जा रहा है।

– राजकुमार साहू ( आरोपी )

मैं घर के बाहर बैठा था। आसी नाम कि महिला मुझे गाली दे रही थी। मैं मना किया तब आरती सिंह मेरी पत्नी से झगड़ा करने लगी। मैं बीच बचाव में गया और लखन साहू सहित अन्य पहुंच कर मार पीट करने लगे। मेरे द्वारा किसी भी प्रकार की मार पीट नही कि गई बल्कि उन्ही लोगो द्वारा मेरी पत्नी, बहू और मुझे मारा गया। घटना स्थल में मेरा बेटा नही था। 

– राजेन्द्र साहू ( आरोपी )