आत्मा को शक्ति शाली बनाने के लिए मैडिटेशन जरूरी- ए ई पुरुषोत्तम प्रधान 

0
336

आत्मा को शक्ति शाली बनाने के लिए मैडिटेशन जरूरी- ए ई पुरुषोत्तम प्रधान 

समय INDIA 24 @ सीधी । प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के मुख्य सेवा केंद्र दिव्य ज्योति धाम (स्टेडियम के उत्तर दिशा) में 86 वी शिव जयंती के पावन पर्व पर आध्यात्मिक एव सांस्कृतिक कार्यकम का आयोजन किया गया । कार्यकम अतिथि ए ई बिजली विभाग परुषोत्तम प्रधान ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि हम सभी को सकारात्मक सोच रखने के लिए परमात्मा को याद करना चाहिए और एक घंटे का समय निकाल कर जरूर मैडिटेशन करना चाहिए जिससे हमें शांति और शक्ति मिलती है ।समाज सेवी गणेश सिंह परिहार ने कहा कि परमात्मा शिव को ही सभी धर्मों में कोई अल्लाह कोई गॉड कहते है भारत विश्व गुरु तभी बनेगा जब हम अपने जीवन मे आध्यात्मिकता को अपनाएंगे ।ब्रह्माकुमारीज़ सीधी की मुख्य संचालिका बी के रेखा दीदी ने कहा परमात्मा का अवतरण कलियुग रूपी घोर रात्रि में होता है जिसे संगम युग कहते है और वर्तमान समय संगम युग ही चल रहा है परमात्मा का अवतरण भारत को स्वर्ग बनाने के लिये होता है । हमे सम्पूर्ण विषय विकारो को परमात्मा शिव पर अर्पण करना है तभी शिव जयंती मनाना सार्थक सिद्ध होगा । ब्रह्माकुमारीज़ की पूर्व मुख्य संचालिका दादी हृदय मोहनी जी का प्रथम स्मृति दिवस मनाकर उन्हें याद किया गया और अतिथियो द्वारा श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया ।कार्यक्रम में अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे ।अतिथियो का कुसुम बहन रानी बहन द्वारा स्वागत, अर्चना बहन के द्वारा मंच संचालन और कुमारी शैलजा द्वारा बहुत सुंदर नृत्य प्रस्तुत किया गया।